सुप्रभात सुविचार - आलोचना में छिपा हुआ सत्य 


आलोचना में छिपा हुआ सत्य 
और प्रशंसा में छिपा हुआ झूठ 
यदि मनुष्य समझ जाये तो
आधी समस्याओं का समाधान 
अपने आप हो जायेगा। 

suprabhat suvichar
suprabhat suvichar