Skip to main content
Home Telegram Contact About Support Blog Tools Base Custom More Logo Friends Partners People Workl Work Work Work Work Work

Happy Gandhi Jayanti 2020: Wishes, Images, Quotes, Status, Messages, Photos and Greetings

Gandhi Jayanti 2020 Photo , Wishes, Quotes, Messages : आज राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 151वीं जयंती है। हर वर्ष 2 अक्टूबर का दिन गांधी जयंती के रूप में मनाया जाता है। गांधी जी एक महान नेता के साथ समाज सुधारक भी थे। उन्होंने अपना पूरा जीवन निडर होकर लोगों के अधिकारों और सम्मान के लिए संघर्ष किया। अंग्रेजों से भारत को मुक्त करवाने वाले महात्मा गांधी के विचार आज भी लोगों का मार्गदर्शन कर रहे हैं। महात्मा गांधी का पूरा नाम मोहनदास करमचंद गांधी था। बाद में लोग उन्हें बापू कहकर बुलाने लगे। बापू ने सत्य और अहिंसा के सिद्धांत के दम पर ब्रिटश हुकूमत को घुटने टेकने पर मजबूर कर दिया था।
 
Happy Gandhi Jayanti 2020: Wishes, Images, Quotes, Status, Messages, Photos and Greetings
Happy Gandhi Jayanti 2020: Wishes, Images, Quotes, Status, Messages, Photos and Greetings


आइए आज हम उनके अनमोल विचारों को अपने दोस्तों और करीबियों के बीच शेयर करें और उनके सपनों के भारत के निर्माण के लिए दृढ़ संकल्प लें-

– पाप से घृणा करो पर पापी से नहीं, क्षमादान बहुत मूल्यवान चीज है।
– स्वयं को जानने का सर्वश्रेष्ठ तरीका है खुद को औरों की सेवा में लगा देना।
– आप तब तक यह नहीं समझ पाते कि आपके लिए कौन महत्वपूर्ण है, जब तक आप उन्हें वास्तव में खो नहीं देते।

–प्रेम की शक्ति दंड की शक्ति से हजार गुनी प्रभावशाली और स्थायी होती है।
–जब तक गलती करने की स्वतंत्रता ना हो, तब तक स्वतंत्रता का कोई अर्थ नहीं है।
–जो चाहे वह अपनी अंतरात्मा की आवाज सुन सकता है, वह सबके भीतर है।

व्यक्ति अपने विचारों से निर्मित प्राणी है, वह जो सोचता है वही बन जाता है।
-काम की अधिकता नहीं, अनियमितता आदमी को मार डालती है।
-हम जिसकी पूजा करते हैं, उसी के समान हो जाते हैं।

– अहिंसा कायरता की आड़ नहीं है, अहिंसा वीर व्यक्ति का सर्वोच्च गुण है, अहिंसा का मार्ग हिंसा के मार्ग की तुलना में कहीं ज्यादा साहस की अपेक्षा रखता है।
-अहिंसा के बिना सत्य का अनुभव नहीं हो सकता, अहिंसा का पहला सिद्धांत हर अमानवीय चीज के प्रति असहयोग करना है।
-धरती पर उपलब्ध प्राकृतिक संसाधन हमारी जरूरत पूरी करने के लिए हैं, लालच की पूर्ति के लिए नहीं।

-शांति का मार्ग सत्य का मार्ग है, सत्यता, शांतिमयता से भी अधिक महत्वपूर्ण है, वस्तुतः झूठ हिंसा का जनक है।
-राजनीतिक स्वतंत्रता से ज्यादा स्वच्छता जरूरी है, स्वच्छता को आचरण में इस तरह अपना लो जिससे वह आदत बन जाए।
-इंसानियत पर से विश्वास नहीं खोना चाहिए. यह एक सागर की तरह है, कुछ बूंदों के गंदा होने से पूरा सागर गंदा नहीं हो जाता।

महात्मा गांधी ने अपने जीवन भर न सिर्फ अहिंसा की लड़ाई लड़ी बल्कि छुआछूत, जाति प्रथा व सामाजिक भेदभाव के खिलाफ भी संघर्ष करते रहे। दुनिया को उनके योगदान को याद करते हुए हम सभी उनके बड़ी ही श्रद्धा भाव से याद करते हैं।

संयुक्त राष्ट्र ने 15 जून 2007 को महात्मा गांधी के सम्मान में दो अक्टूबर को अंतरराष्ट्रीय अहिंसा दिवस के रूप में मनाने का ऐलान किया जिससे अब गांधी जयंती को दुनिया के अन्य देश अहिंसा दिवस के रूप में मनाई जा रही है। अहिंसा पूर्वक भारत को आजादी दिलाने में अपना महान योगदान करने वाले महात्मा गांधी का जन्म 2 अक्टूबर 1869 में हुआ था।
😊 Thanks for Visit.😊

Post a comment

0 Comments